ब्रेकिंग न्यूज़
logo

ऑनलाइन माध्यम को बनाया कामयाबी का हथियार।

Karunakar TripathiJan 15, 20210 views

देखते ही देखते मजबूरी बन गई मजबूती।

ब्यूरो चीफ हफ़ीज अहमद खान

कानपुर नगर, उत्तर प्रदेश।

दो युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस सपने को साकार कर दिया, जिसमें उन्होंने कोरोना काल में "आपदा को अवसर" में बदलने का आग्रह देशवासियों से किया था, कानपुर के दो युवाओं ने पीएम के इसी स्लोगन को अपने बिजनेस का मूलमंत्र मान लिया और आपदा को अवसर में बदल के दिखा दिया...संक्रमण और सोशल डिस्टेंसिंग के दौर में जहां आर्थिक मोर्चे पर चुनौतियां बढ़ी पड़ी थी, वहीं इन्होंने अपना Redmil Business Mall के नाम से देश का सबसे बड़ा बी2बी फिनटेक प्लेटफॉर्म बनाकर पूरे देश के 17 राज्यों में 70 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार दे दिया।कानपुर के रायपुरवा इलाके के एल्डिको क्लब में रेडमिल बिजनेस ऐप के ऑफिस में सैकड़ों युवक और युवतियां काम कर रहे हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी के इन सबको को ये जॉब उन्हीं 6 महीनों में मिली है, जिस समय पूरे देश में बड़ी बड़ी कम्पनियां छटनी कर रही थी.रेडमील बिजेनस ऐप के सीएमडी आशीष पालीवाल और डायरेक्टर सागर राज सिंघल ने रेडमिल ऐप बनाकर देश के युवाओं को रोजगार देकर एक नई पहल स्थापित की, इनका कहना है कि हम अपनी जॉब छोड़ चुके थे, तभी प्रधानमंत्री मोदी के 'आपदा में अवसर' स्लोगन से प्रेरणा लेकर हमने सोचा क्यों न कोई ऐसा ऐप जो लोगो को घर बैठे ही रोजगार उपलब्ध करा दे।  यह एप्लिकेशन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस द्वारा संचालित है और कोई भी इस ऐप का उपयोग करके पैन इंडिया काम कर सकता है। कुछ ही महीनों में 70,000 से अधिक लोगों ने ऐप डाउनलोड किया है और रेडमिल समूह का हिस्सा बन गए हैं। इस ऐप के सहारे अपना रोजगार कर रहे हैं  जिन बड़ी कंपनियों की वो सुविधा अपने लोगों देते हैं। उसका भी कमीशन उनको घर बैठे मिलता रहता है.

सागर राज सिंघल (डायरेक्टर  रेडमील) ने हमें बताया कि इस एप्लिकेशन में प्रदान की गई सेवाओं को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि कस्बों और गांवों में रहने वाले लोग भी इस ऐप का उपयोग कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। और यही नही एप्लिकेशन को बेहतर ढंग से समझने के लिए कंपनी ने एक ऑनलाइन अकादमी भी बनाई है जो बिल्कुल मुफ्त है। 


       

Comments

  1. No Comments posted yet!